Coat ka kissa

कुछ   पांच या छः  साल पहले का किस्सा रहा होगा।  बड़े शौक से मैंने आपने बड़े बेटे के लिए एक कोट ख़रीदा।  स्कूल के स्टेज पर कोई प्रोग्राम था जहां जा कर कुछ बोलना था।  जनाब कोट पैंट पहन कर शीशे के सामने खड़े आपने को घंटो निहारते रहे ,फिर बोले – ” मैं तोContinue reading “Coat ka kissa”