Ma

ये है अबीर की कहानी

ये है अबीर की कहानी

मैं हूँ अबीर
थोड़ा सा छोटा
और थोड़ा सा नटखट
पर बहुत समझदार
और प्यारा सा बच्चा हूँ।
ऐसा माँ कहती है।
जब माँ काम पर जाती है
तब मैं कभी नहीं रोता।
जब माँ किताबों से बाते करती है
तब मैं कभी नहीं तंग करता
जब माँ थक जाती है
तब मैं माँ के पास आ कर बैठ जाता हूँ
और माँ कितनी भी थकी हो
हमेशा मेरा ख्याल रखती है
कभी मेरी कहनियाँ सुनती है
तो कभी मुझे कहनियाँ सुनाती है
मैं जानता हूँ मेरे पास है
मेरी सबसे प्यारी माँ

Latest Posts

Where is the green egg

This small booklet is for children who wants to learn colors in Hindi . Encourage children to see the picture and answer the question where is the green egg. Hopefully, children will enjoy reading.

Hari tokri-hindi story

Hindi reading seems a tough task for many children who are residing outside India. To boost small kids’ confidence to read Hindi, this booklet written in an easy to read format. Introducing basic colours and simple sentence structure for children. Parents can use the pictures to enhance the interest of a child to communicate inContinue reading “Hari tokri-hindi story”

Coat ka kissa

कुछ   पांच या छः  साल पहले का किस्सा रहा होगा।  बड़े शौक से मैंने आपने बड़े बेटे के लिए एक कोट ख़रीदा।  स्कूल के स्टेज पर कोई प्रोग्राम था जहां जा कर कुछ बोलना था।  जनाब कोट पैंट पहन कर शीशे के सामने खड़े आपने को घंटो निहारते रहे ,फिर बोले – ” मैं तोContinue reading “Coat ka kissa”

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.

Follow Me

Get new content delivered directly to your inbox.

%d bloggers like this: